अमृता को पढते हुए...

posted Jun 16, 2011, 6:55 PM by Abhishek Ojha   [ updated Nov 10, 2011, 8:13 PM ]
 

तेरे इश्क की एक बूंद इस में मिल गई थी इस लिए मैंने उम्र की सारी कडवाहट पी ली. - अमृता प्रीतम
Comments